शहर की जर्जर सड़कों ने किया लोगों का जीना मुहाल, बड़े-बड़े गड्ढे दे रहे हादसों को आमंत्रण..

Bokaro, News, write-up

बोकारो स्टील सिटी, झारखंड के सबसे व्यवस्थित शहर के रूप में जाता था लेकिन आज यहां की स्थिति बिलकुल विपरित हो चुकी है। ना तो कोई व्यवस्था है ना ही कोई मूल सुविधा, देखने को मिलेगा तो बस कहीं अतिक्रमण के कारण फैली गंदगी, बिजली चोरी के कारण सेक्टरों की गलियों में पसरा अंधेरा, जर्जर अवस्था में बीएसएल के क्वार्टर और सड़कों पर बड़े-बड़े गड्ढे।

शहर के सड़कों की हालत ऐसी हो चुकी है मानों जैसे वो भी हर पल किसी की जिंदगी लीलने के इंतजार में बैठी हो| दो-चार गिने-चुने सड़कों को छोड़कर, शहर के ज्यादातर सड़क बदहाल स्थिति में नज़र आएंगे| इन सड़कों पर सुरक्षित वाहन चलाकर निकल जाना मानों अपने-आप में एक चुनौती भरा कार्य हो चुका है| आम दिनों में तो चलों लोग जैसे तैसे संभाल लेते हैं लेकिन बरसात के बाद ये सड़कें किसी तालाब से कम नज़र नहीं आते|

मॉनसून के दस्तक से लोगों को भले गर्मी से निजात मिल गई होगी लेकिन गड्ढों वाली सड़कों में लबालब भरा पानी परेशानी का सबब बना हुआ है| ये गड्ढ़े किसी बड़े हादसे को आमंत्रण दे रहे हैं क्योंकि यहां हर वक्त सड़क दुर्घटना होने का डर बना रहता है| यूं तो मोटर वाहन अधिनियम का उल्लंघन करने पर कार्रवाई होती है तथा फाइन का प्रवाधान भी रखा गया है लेकिन अगर नियमों का पालन करने के बावजूद लोग इन गड्ढों में फंस के गिर जाए तो उसके लिए जिम्मेदार कौन होगा?

बात करें कुछ ऐसे ही सड़कों के उदाहरण की तो आप सेक्टर-4 स्थित कांग्रेस कार्यालय के सामने वाली सड़क की हालत देखें| यहां लोग सड़क को छोड़कर उसके किनारे मिट्टी पर चलने को मजबूर है हालांकि अब बरसात में उसपर से भी गुजरना मुश्किल हो चुका है| फिर चलते हैं सेक्टर-9,स्ट्रीट-3, जहां सड़क पर इतने गड्ढे हो चुके हैं कि उसपर साइकिल तक चलाना भी खतरों से खाली नहीं|

ऐसा ही हाल यादव चौक का है जहां सड़क तालाब में तब्दील हो चुका है| यहां के गहरे गडढों में पानी भर चुका है जिसे अगर बाइक से पार करने जाओ तो बाइक लगभग आधी डूब जाती है| सबसे बुरा हाल तो उनलोगों का होता है जो उस सड़क पर से पहली बार गुजर रहे होते हैं| गड्ढे की गहराई से अनजान लोग इस सड़क पर बाइक लेकर निकले तो उन्हें अंदाजा लगाने में भी मुश्किल होगा कि सामने कई बड़ा गड्ढा है| और तो औग अगर कोई व्यक्ति इस गड्ढे में फंसा तो उसकी जान भी जोखिम में जा सकती है| ठीक ऐसा ही हाल सेक्टर-4 से सेक्टर-8 की ओर जा रही कालीबाड़ी रोड का है|

ये तो महज चार सड़कें हैं लेकिन शहर में इसके अलावा भी कई ऐसी सड़कें हैं जिनकी हालत बद से बदतर होती जा रही है| ऐसी ही हालत यहां के क्वार्टरों की भी है लेकिन फिलहाल बीएसएल ने सतर्कता दिखते हुए कुछ जर्जर आवासों की लिस्ट जारी की है तथा उन्हें दस दिन के भीतर खाली करने का आदेश भी जारी किया है| ऐसा नहीं करने पर चिन्हित आवासों का बिजली-पानी कनेक्शन काट दिया जाएगा| हालांकि बीएसएल द्वारा जारी लिस्ट के अलावा कई और भी आवासों की हालत बिगड़ते जा रही है|

अगर आपके सेक्टर या आसपास में भी सड़कें टूटी-फूटी अवस्था में हैं या क्वार्टर की हालत जर्जर हो रखी है तो आप बोकारो अपडेट्स को जरूर बताएं| हमारी कोशिश रहेगी कि आपके द्वारा दी गई जानकारी को हम लोगों के नज़र में जरूर लाये और प्रबंधन तक उसे पहुंचाएं|जानकारी देने के लिए आप हमें अपना नाम, जर्जर सड़क या आवास के लोकेशन के साथ तस्वीर भेज सकते हैं| इस नंबर पर व्हाट्सऐप करें -9905404064

Leave a Reply