बेरमो भाजपा प्रत्याशी श्री बाटुल ने दाखिल किया नामांकन, समर्थन में आये मुख्यमंत्री ने की जनसभा..

Bokaro, Politics

12 दिसमंबर को बेरमो विधानसभा क्षेत्र में होने वाले चुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी योगेश्वर महतो बाटुल ने आज अपना नामांकन दाखिल किया| बेरमो अनुमण्डल मुख्यालय तेनुघाट में पर्चा दाखिल करने के दौरान बाटुल महतो के साथ हज़ारों की संख्या में पार्टी कार्यकर्ता मौजूद रहें।

नामांकन के बाद श्री बाटुल ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि भाजपा सरकार के पांच साल के कार्यकाल में जो काम हुए वो 72साल के इतिहास में कभी नहीं हुए| उन्होंने कहा कि भाजपा के नेतृत्व में बेरमो विधानसभा ने सर्वांगीण विकास स्वर्णिम विकास हुआ है एवं उन्हीं कार्यो को लेकर वो जनता के बीच जा रहे हैं। श्री बाटुल ने जैनामोड़ को अनुमण्डल का दर्जा दिलवाने, बेरमो के तीन कोलयरी को शुरू करने, फुसरो नगर परिषद के 28 वार्ड और 22 पंचायतों में पेयजलापूर्ति योजना शुरू करने एवं क्षेत्र में रोजगार के साधन उपलब्ध करवाने को अपनी प्राथमिकता बताई।

उधर नामांकन के बाद राज्य के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बेरमो प्रत्याशी श्री बाटुल के पक्ष में चांपी में एक विशाल चुनावी सभा को संबोधित किया। मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि प्रधानमंत्री के सपने के अनुरूप वर्ष 2022 तक एक नये झारखंड का निर्माण करना है ऐसे में 2019 का चुनाव बेहद महत्वपूर्ण है| यह जनता को तय करना है कि वह झारखंड में मजबूर सरकार चाहती है या मजबूत सरकार। मुख्यमंत्री ने कांग्रेस, राजद और झारखंड मुक्ति मोर्चा पर निशाना साधते हुए कहा कि इनकी नियत इसी बात से प्रमाणित हो जाती है कि इनलोगों ने एक निर्दलीय को मुख्यमंत्री बनाकर यहां के संसाधनों को लूटा।

उन्होंने जनता को आगाह करते हुए कहा कि चुनाव में कुछ लोग पैसे देकर वोट खरीदने का प्रयास करेंगे, आप उनसे पैसे लें लेकिन वोट ना दें| बेरमो विधानसभा से कांग्रेस के पांच बार विधायक रह चुके राजेंद्र प्रसाद सिंह पर तंज कसते हुए कहा कि बेरमो का 25 वर्षों तक जिन्होंने प्रतिनिधित्व किया और राज्य के विभिन्न मंत्री पदों पर रहे, उन्होंने बेरमो का विकास ना करके सिर्फ ठेकेदारी करने का काम किया|

जनसभा के दौरान श्री बाटुल ने कहा कि विधानसभा क्षेत्र में 11 सौ से 12 सौ करोड़ की योजनाएं धरातल पर चल रही हैं| ये जनता को तय करना होगा कि उन्हें एक मजबूत घोड़ा चाहिए या एक लंगड़ा घोड़ा| अपने कार्यकाल में किये गये काम को जनता के बीच रखते हुए उन्होंने कहा कि इन पांच सालों में दूरदराज के गांव को मुख्य सड़कों से जोड़ने का काम किया गया, दामोदर नदी में पांच- पांच पुल बनाकर यहां के गांव को शहरों से जोड़ा| श्री बाटुल ने मुख्यमंत्री से चांपी गांव के पास दामोदर नदी में पुल बनाने का आग्रह किया जिससे यहां के लोग सीधे कथारा से जुड़ सकें|

Leave a Reply