जनता मिलन में फरियादियों ने उपायुक्त के समक्ष रखी अपनी समस्याएं..

District Administration

शुक्रवार को आयोजित जनता मिलन कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त श्री राजेश सिंह ने फरियादियों की समस्याओं को सुना| कार्यक्रम के दौरान 50 फरियादियों ने अपनी समस्याओं को उपायुक्त के समक्ष रखा। उन्होंने सभी समस्याओं के त्वरित निष्पादन हेतु फरियादियों के लिखित आवेदन को संबंधित पदाधिकारियों को अग्रेषित किया।

कार्यक्रम में वेदांता इलेक्ट्रोस्टील के कर्मचारियों ने उपायुक्त से फरियाद करते हुए कहा कि कंपनी के द्वारा लॉकडाउन के दौरान घर पर बैठा दिया गया| इसके बाद उन्हें पुनः बहाल भी नहीं किया गया तथा दो महीने से वेतन बंद कर दिया गया। मामले के निष्पादन हेतु उपायुक्त ने जिला श्रम अधीक्षक को जांच कर आवश्यक कार्रवाई करने का आदेश दिया।

चास प्रखंड के श्री अमर डोम ने उपायुक्त से फरियाद करते हुए कहा की बूढ़ाबांध तालाब में उनके नाम से 3 वर्ष हेतु बंदोबस्ती मिला है।लॉकडाउन के कारण वो तालाब खाली नहीं करा सके और मछली भी नहीं पकड़ पाये| इस समस्या को देखते हुए फरियादी अमर ने तालाब को फिर से उन्हें 3 साल के बंदोबस्ती के रूप में देने का आग्रह किया जिससे वोअपनी जीविका चला सकें। इस पर उपायुक्त ने मामले के निष्पादन हेतु जिला मत्स्य पदाधिकारी को निर्देश निर्गत किया।

वहीं महुआर बस्ती के ग्रामीणों ने उपायुक्त के समक्ष अपनी समस्याओं को रखते हुए कहा कि बीएसएल प्लांट के ऐशपॉन्ड की छाई की वजह से ग्रामीणों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ रहा है। गांव से होकर गुजरने वाली भारी वाहनों (जिन पर छाई लदा रहता) की वजह से गांव के लोगों का स्वास्थ्य दिन पर दिन खराब होता जा रहा है| यहां तक कि कई ग्रामीणों को सांस लेने में भी दिक्कत आ रही है। उपायुक्त ने मामले को गंभीरता पूर्वक लेते हुए अनुमंडल पदाधिकारी चास श्री शशि प्रकाश सिंह को आदेश दिया कि ग्रामीणों के हितों को ध्यान में रखते हुए जल्द से जल्द भारी वाहनों के परिचालन हेतु वैकल्पिक रूट की व्यवस्था की जाए।

कॉपरेटिव निवासी श्री चंद्रकांत चौधरी ने उपायुक्त के समक्ष अपनी समस्या को रखते हुए कहा कि उनके प्लॉट संख्या 458 का रास्ता पास के ही निवासी द्वारा गलत तरीके से रोक दिया गया है|इसकी वजह से उनके परिवार को घर से निकलने में काफी कठिनाई हो रही है। उन्होंने उपायुक्त को बताया कि आसपास के खाली पड़ी सरकारी जमीनों पर अवैध रूप से भू-माफियाओं द्वारा कब्जा कर उनके मकान को खाली कराने की कोशिश की जा रही है। उपायुक्त ने मामले पर संज्ञान लेते हुए अनुमंडल पदाधिकारी चास तथा अंचल अधिकारी चास को जांच कर उचित करवाई करने का आदेश निर्गत किया|इसके साथ ही उन्होंने वैसे लोगों को चिन्हित कर कार्रवाई करने का आदेश दिया जो अवैध रूप से सरकारी जमीनों पर अपना कब्जा किए हुए हैं।

चास निवासी श्री देव प्रकाश गुप्ता ने उपायुक्त के समक्ष फरियाद करते हुए कहा कि उनके मकान में किराएदार द्वारा जबरन 5 महीने से दुकान का भाड़ा नहीं दिया जा रहा है|और तो और नाही भाड़ाधार द्वारा दुकान खाली किया जा रहा है| उक्त मामले पर उपायुक्त ने अनुमंडल पदाधिकारी चास को इस दिशा में कार्रवाई हेतु आदेश निर्गत किया|

मौके पर निदेशक डीपीएलआर श्री पीएन मिश्रा उपस्थित थे।

Leave a Reply