हेमंत सोरेन सरकार के कार्यकाल में राज्य में विकास कार्यो पर लगा ग्रहण : विधायक

Politics

बोकारो : पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास द्वारा झारखंड विधानसभा चुनाव से पहले बेरमो में शिलान्यास किए गए 202 करोड़ की 79 योजनाओं पर हेमंत सरकार ने आज रोक लगा दी है. जन आशीर्वाद योजना के तहत इन योजनाओं का शिलान्यास किया गया था. विपक्ष ने इसे लेकर सरकार की घेराबंदी शुरू कर दी है. एक प्रेस वार्ता में बोकारो विधायक बिरंची नारायण ने कहा कि झारखंड की जनता ने सोचा की एक नौजवान राज्य का मुख्यमंत्री बना है तो कई विकास की योजनाएं धरातल पर उतरेंगी. उन्होंने सत्ता में आने से पूर्व बहुत लंबे-चौड़े वादे किए थे. जिसके दम पर ही झारखंड की जनता ने उन्हें राज्य के सीएम की गद्दी तक पहुंचाया. लेकिन इस सरकार ने शपथ ग्रहण के दिन से ही राज्यभर में चल रही विकास से संबंधित सभी योजनाओं को ठप करवा दिया.

उन्होंने आगे कहा कि अकेले बोकारो विधानसभा क्षेत्र में ही कितनी चालू योजनाओं को सरकार ने ठप करवा दिया हैं. चीराचास में 10 करोड़ की लागत से पांडेय पुल से तालगडिय़ा मोड़ तक सड़क का शिलान्यास किया गया था. जिसका काम रोक दिया गया है. जबकि उसी राह से पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन अपने फार्म हाउस के लिए आवागमन करते हैं. इसके अलावा बोकारो जिले में कुल सात सौ करोड़ की सरकारी योजनाओं का काम भी रोक दिया गया है. जिसमें बारी-को ऑपरेटिव मोड़ से सिजुवा रेल फाटक तक वाया मकदुमपुर, आइटीआइ मोड़ से उकरीद पथ, हटिया मोड़ से कुंडौरी व संथालडीह से राजाटांड़ तक पथ निर्माण कार्य ठप हो गया है. वहीं हैसबातू पेजलपूर्ति योजना, पुपुनकी राहरगोड़ा जलापूर्ति योजना, फुदनीडीह, नारायणपुर व पिड्राजोरा विद्युत सब स्टेशन के निर्माण कार्य के साथ अन्य योजनाएं भी बाधित हो गई हैं. उन्होंने सरकार से विकास कार्यो को दोबारा शुरू कराने की मांग की.

उन्होंने आगे सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि इधर सरकार खजाना खाली होने का दिखावा कर रही है और एक तरफ बेरोजगारों को बरगलाया जा रहा है और दिखावे के लिए उनका रजिस्ट्रेशन करवाया जा रहा है. उन्हें कहा जा रहा है कि यह सरकार उन्हें बेरोजारी भत्ते के रूप में पैसे देगी और जॉब उपलब्ध करवायेगी. कुल मिलाकर यह ठगी की सरकार है. मौके पर त्रिलोकी सिंह, जिला मंत्री कमलेश राय, दिलीप श्रीवास्तव, संजय त्यागी, शशि भूषण ओझा मुकुल, इंद्र कुमार झा, माथुर मंडल आदि उपस्थित थे.

हेमंत सरकार ने इन योजनाओं पर लगाई रोक..

पाण्डेयपुल चीरा चास से तालगडिय़ा मोड़ : 10 करोड़, दांतू से सिल्ली साड़म सड़क : 62 करोड़, जैना मोड़, फुसरो, नावाडीह रोड : 52.15 करोड़, ललपनिया से कुजू सड़क : 54.35 करोड़, तालगडिय़ा-बिजुलिया सड़क : 8.33 करोड़, मेगा फुड पार्क चंदनकियारी का पहुंच पथ : 13 करोड़, डुमरकुदर से हीसीम पंचायत तक संपर्क पथ : 2.24 करोड़, बारी-को ऑरेटिव से सिजुआ : 20 करोड़, तालगडिय़ा से मानपुर : 15 करोड़

इन विभागों पर बड़ा असर..

ग्रामीण विकास विशेष प्रमंडल : 100 करोड़, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग : 250 करोड़, भवन निर्माण, आरईओ व अन्य : 100 करोड़, पथ निर्माण विभाग : 250 करोड़

Leave a Reply