बोकारो समेत झारखंड के 17 अस्पतालों में होगा कोरोना का इलाज..

COVID19, Health

कोरोना के कारण देशभर में लोग त्रस्त है. ऐसे में केंद्र से लेकर राज्य सरकारें जनता के लिए एहतियात बरतने में लगी हुई है. झारखंड के भी विभिन्न जिलों से स्वास्थ्य विभाग ने 17 अस्पतालों का चयन किया है, जिसमें सिर्फ कोरोना के मरीजों का ही इलाज होगा.

स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव डॉ. नितिन मदन कुलकर्णी ने बुधवार को कोरोना के उपचार को लेकर चिह्नित किए गए अस्पतालों की सूची जारी कर दी. बोकारोवासियों के लिए अच्छी बात है कि इस सूची में बोकारो के भी दो अस्पताल को शामिल किए गए है. हालांकि, इतनी बड़ी आबादी के लिए दो अस्पताल काफी है कि नहीं ये तो बाद में पता चलेगा. सरकार को इसकी गंभीरता को देखते हुए बढ़ाना पर सकता है. लेकिन, एक सुखद सच यह भी है कि अभी तक बोकारो से एक भी मामला सामने नहीं आया है.

आपको बता दें की झारखंड के रांची में मलेशिया की एक महिला के कोरोना संक्रमित होने के बाद सरकार सतर्क हो गई है. झारखंड में यह कोरोना संक्रमण का पहला मामला आया है. इसी को लेकर सुरक्षा और बढ़ा दी गई है. और इसी वजह से राज्य के 17 अस्पतालों को कोरोना के इलाज के लिए चुना गया है.

राजधानी रांची में आईसीयू (वेंटिलेटर की सुविधा) के 30 और नॉन आईसीयू के 155 बेड तैयार रखे गए हैं. इसमें रिम्स में आईसीयू के 25 और नॉन आईसीयू के 100 बेड हैं. पारस एचईसी हॉस्पिटल में आईसीयू के पांच और नॉन आईसीयू के 55 बेड तैयार रखे गए हैं. वहीं, बोकारो में बीजीएच और केएम मेमोरियल अस्पताल के कुल 136 नन आइसीयू और 35 आइसीयू वार्ड को कोरोना पेशेंटों के लिए तैयार किया गया है. जिसमें बीजीएच बोकारो के 20 आइसीयू और 90 नन आइसीयू जबकि केएम मेमोरियल के 15 आईसीयू और 45 नन आईसीयू बेड तैयार है.

झारखंड के कुल 17 अस्पतालों में 230 आइसीयू और 1394 नन आइसीयू अस्पताल शामिल हैं. प्रधान सचिव ने राज्य के सभी उपायुक्तों और सिविल सर्जनों को सूची भेजते हुए सभी अस्पतालों केा अपने अधीन लेते हुए कार्रवाई शुरू क रने का निर्देश दिया है.

Leave a Reply