पढे़ं, कैसे बीएसएल के कुछ कर्मी ड्यूटी से पहले और बाद में जरूरतमंदों तक पहुंचा रहे राशन..

Bokaro, COVID19, Industry, Social

बोकारो : देश इस वक्त बेहद मुश्किल परिस्थिति से गुजर रहा है. ऐसे में कई समाजसेवी ही है जो जरूरतमंदों के देवता बनकर खड़े हो रहे है. झारखंड के बोकारो जिला में भी एक पहल हुई है. 12 बीएसएल अधिकारियों ने मिलकर एक संस्था का निर्माण किया है और लोगों तक मदद पहुंचा रहे हैं. ”इस्पात स्पर्श” नाम की इस संस्था को वे ड्यूटी के साथ-साथ चला रहे हैं.

जैसा कि आपको ज्ञात हो कि देश में इस समय लॉकडाउन जारी है, जो 14 अप्रैल तक चलेगा. हालांकि, लोगों के मन में इसे लेकर संशय है कि लॉकडाउन की तिथि बढ़ाई जा सकती है या नहीं. ऐसे में उन मजदूरों और गरीबों की स्थिति दिन-प्रतिदिन दयनीय होती जा रही है जिन्हें अपना रोजी-रोटी चलाने के लिए बाहर जॉब करना पड़ता था, या जिनका यहां बिजनेस था.

इस संस्था के माध्यम से अबतक करीब पांच सौ गरीबों तक खाद्य सामग्री पहुंचाया जा चुका है. यह कार्य बीएसएल के 150 कर्मियों के सहयोग से हा पाया है. जबकि कई और अपनी स्वेच्छा से इस संस्था के जरिये मदद करने के लिए अपना हाथं बढ़ा रहे हैं. आपको बता दें कि इनकी योजना पूरे लॉकडाउन तक इसी तरह गरीबों के मदद करने की है.

इस्पात स्पर्श के चौधरी रत्नेश कुमार, सुधांशु-डीजीएम ने बताया कि इस संस्था की ओर से गरीब परिवार को पांच किलो चावल, डेढ किलो दाल, दो किलो आलू, नमक, हल्दी समेत एक महीने का पूरा राशन दिया जा रहा है. राशन की पैकेजिंग ड्यूटी के पहले और बाद में कर रहे हैं.बीते दिनों हमने बोकारो सेक्टर-5,6, 9, 12 में खाद्य सामग्री वितरित किया था.

आप भी जुड़ सकते है इस टीम से..
इस टीम में चौधरी रत्नेश कुमार सुधांशु, रवि भूषण, चंदन कुमार, तनुप्रिया, सुष्मिता सोरेन, शरद पीयूष, दिव्यांशु पंत, मनोज कुमार दीन, प्रवीन कुमार, राहुल प्रियदर्शी, नीरज कुमार त्रिपाठी, विपिन कुमार, शशांक कुमार आदि शामिल हैं. इस कार्य से जुड़ने के लिए आप 8986875357 पर संर्पक कर सकते हैं.

Leave a Reply