मैट्रिक एवं इण्टरमीडिएट परीक्षा कल से होगी शुरू, परीक्षा केंद्रों के बाहर धारा 144 रहेगा लागू..

Education

बोकारो : झारखंड में कल से मैट्रिक एवं इण्टरमीडिएट परीक्षा शुरू हो रही है. एग्जाम को लेकर बच्चें काफी प्रेशर में हैं. ऐसे हालात में बच्चों को अपने पैरेंट्स से बड़े सहयोग की उम्मीद होती हैं. आज बोकारो अपडेट्स आपको बता रहा है इन दिनों बच्चों से कैसे ट्रीट करें-

पैरेंट्स बच्चों के साथ ऐसे करें ट्रीट :

  • एग्‍जाम देने से पूर्व बच्चों का लिक्विड डायट जैसे दूध, जूस, आदि भरपूर मात्रा में देना चाहिए
  • एग्‍जाम के कारण अगर बच्चा प्रेशर में है तो पैरेंट्स उसके मोटिवेटर बनें
  • पैरेंट्स बच्चों को विश्वास दिलायें की बोर्ड एग्‍जाम नॉर्मल एक्जाम की तरह ही होता है और किसी भी हाल में आप उसके साथ हैं
  • बच्चों को ज्यादा मार्क्‍स लाने के लिए प्रेशराइज न करें क्योंकि वे अपनी तैयारी के अनुसार ही मार्क्स स्कोर सकते हैं
  • जितनी तैयारी होनी थी हो गयी है अत: पैरेंट्स इस बात का ध्यान रखें कि बच्चे आज रात प्रॉपर नींद लें
  • और कोशिश करें की रात की बजाय सुबह उसे जल्द उठकर रिवाइज करवायें, ज्यादा बेहतर होगा
  • बच्चे से प्रॉपर कम्यूनिकेशन में रहें और किसी भी हाल में कम्यूनिकेशन गैप न रखें

गौरतलब है कि चास में मैट्रिक परीक्षा के लिए कुल 22 एवं इण्टरमीडिएट परीक्षा के लिए कुल 14 परीक्षा केन्द्र बनाए गए हैं. और परीक्षा केंद्र के आसपास 500 गज की परिधि में आचार संहिता धारा 144 लागू रहेगा. दिनांक 11.02.2020 के सुबह 08:00 बजे से दिनांक 28.02.2020 के अपराह्न 04:00 बजे तक यह निषेधाज्ञा प्रभावी रहेगा.

मैट्रिक एवं इण्टरमीडिएट परीक्षा 11 फरवरी 2020 से शुरू हो रही है. जो प्रथम पाली व द्वितीय पाली में संचालित होगी. जिसमें मैट्रिक की परीक्षा प्रथम एवं इण्टर की परीक्षा का द्वितीय पाली में संचालन होगा. परीक्षा केन्द्रों के आसपास असमाजिक तत्वों के द्वारा परीक्षा के संचालन में किसी तरह का व्यवधान उत्पन्न न हो इसी लिए सभी परीक्षा केन्द्रों के 500 गज की परिधि में दण्ड प्रक्रिया संहिता धारा 144 लागू की गई हैं.

जानिए क्या है धारा 144, इस दौरान क्या-क्या नही करना चाहिए..

गौरतलब है कि निषेधाज्ञा की धारा 144 में पांच या पांच से से ज्यादा की संख्या में लोगों को एक साथ इकट्ठे होने की अनुमति नहीं होती है. साथ ही किसी भी प्रकार का अग्नेयास्त्र अथवा पारंपरिक हथियार जैसे लाठी-भाला, फरसा, तलवार, तीर-धनुष इत्यादि का प्रर्दशन या इनका व्यवहार भी पूर्णतः वर्जित होता है. नियमों का उल्लंघन करने वालों पर अधिनियम के प्रावधानों के तहत सख्त से सख्त कार्रवाई की जा सकती है.

परीक्षा एवं परीक्षा केंद्र के कर्तव्यों से सम्बंधित व्यक्तियों, कर्मियों, परीक्षाथियों, प्रतिनियुक्त पुलिस पदाधिकारी एवं दण्डाधिकारियों पर यह धारा लागू नही होगा.

चास अनुमण्डल अंतर्गत मैट्रिक एवं इंटरमीडिएट परीक्षा केंद्रों के नाम हैं : एच.एस. उच्च विद्यालय चंदनकियारी, यूएचएस कोड़िया, एचएस बरमसिया, एमएस चंद्रा, चंदनकियारी इंटर कॉलेज, चंद्रा, एमएस चंदनकियारी (गर्ल्स), एमएस नौडीहा, एमएस सहरजोरी, रामरुद्र उच्च विद्यालय, चास, पंचानन राजबाला उच्च एचएस सतनपुर, बीएससिटी कॉलेज, एमएस चास (बगला), चास कॉलेज चास, प्रोजेक्ट गल्स एचएस चास, भीकेएम इंटर कॉलेज चास, एमएसबीएमपी सेक्टर-12, बीएसएल, सेक्टर-2डी बोकारो, यूएचएस रानीपोखर, बीएसएल सेक्टर-9/ए, एसएस इंटर कॉलेज चास, राजएचएस लकड़ाखण्दा और एमएस आजाद नगर, चास-3.

Leave a Reply