तीन साइबर क्रिमिनल गिरफ्तार, छात्र बनकर रहते थे किराये के मकान में..

Crime

बोकारो : बोकारो के हरला थाना पुलिस ने छापेमारी कर तीन साइबर ठगों को गिरफ्तार किया है. सेक्टर नौ बी, स्ट्रीट संख्या 16, आवास संख्या 1258 से इन्हें दबोचा गया. यहां पर ये लोग किराये के मकान में छात्र बन कर रहते थे. और यहीं से ठगी का रैकेट चला रहे थे. इनके पास से साइबर ठगी में इस्तेमाल किया जाने वाला नौ स्मार्ट फोन, तीन नार्मल फोन, 12 अलग-अलग कंपनियों के सिम कार्ड, तीन बैंकों के एटीएम कार्ड, एक लैपटॉप, मोबाइल कंपनियों के सिम कार्ड का 16 रैपर, पल्सर बाइक (जेएच 10 एजेड-2429), एक यूपीएस समेत अन्य दस्तावेज भी बरामद किए गए है. इसके अलावा इनके पास तीन कॉपी व एक डायरी मिली है. जिसमें पेटीएम इस्तेमाल करने वाले सौ से अधिक लोगों का मोबाइल नंबर और नाम लिखा हुआ है.

इन्हें किया गया है गिरफ्तार..

जिन्हें गिरफ्तार किया गया है- गिरिडीह जिला के थाना पोखरा, ग्राम बोरापहाड़ी निवासी खूबलाल मंडल (20 वर्ष) और गिरिडीह जिला के थाना ताराटांड़, ग्राम जामडीहा निवासी पिंटू कुमार राणा (20 वर्ष) और धनबाद जिला के थाना टुंडी, चरक करमाटांड़ निवासी नीरज कुमार शर्मा (24 वर्ष)

तीनों अपराधी ऐसे आये गिरफ्त में..

बोकारो एसपी पी मुरूगन ने बताया कि साढ़े तीन हजार रुपये प्रतिमाह किराया के घर में रह रहे अपराधियों की कुछ हरकतों पर आसपास के लोगों को शक होना शुरू हो गया. तीनों युवक दिन भर आवास में मोबाइल में ही व्यस्त रहते थे. कुछ लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी थी. जिसके बाद पुलिस ने कारवाई करते हुए घर पर छापामारी की और तीनों युवकों को गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस द्वारा पूछताछ करने पर मालूम चला कि ये लोग दिल्ली, मध्य प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, महाराष्ट्र आदि क्षेत्रों के लोगों का पेटीएम एप का मोबाइल नंबर पता लगा कर उन्हें पेटीएम में एक हजार रुपये कैश बैक देने का झांसा देकर ठगी करते थे.

लोगों के मोबाइल पर ये लोग इंक्वायर स्क्रीन शेयर सॉफ्टवेयर का एक लिंक भेजते थे. जिसे क्लिक करते ही सॉफ्टवेयर डाउनलोड हो जाता था और पेटीएम यूजर सॉफ्टवेयर ओपन करते ही कनेक्ट हो जाता था. जिसके बाद उस व्यक्ति का सारा डाटा आरोपियों के मोबाइल पर दिखने लगता था. और आसानी से उसके पेटीएम वॉलेट से सारी राशि ये लोग अपने पेटीएम वॉलेट में ट्रांसफर कर लेते थे. गिरफ्तार युवकों से जब्त लैपटॉप में से हुई साइबर हैकिंग के कई स्क्रीनशॉट्स मिले जिससे इसकी पुष्टि हुई.

छापामारी में शामिल पुलिस टीम..

इस मामले में पुलिस ने तीनों आरोपियों पर साइबर ठगी व जालसाजी का मामला दर्ज किया है. इस कारवाई में सिटी डीएसपी ज्ञानरंजन, हरला थाना के इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी जय गोविंद प्रसाद गुप्ता, हरला थाना के प्रशिक्षु दारोगा निखिल आनंद, आनंद करमाली, जमादार संजय कुमार राय, आरक्षी वीरेंद्र यादव, राकेश कुमार ठाकुर व कंप्यूटर ऑपरेटर जितेंद्र कुमार शामिल थे.

Leave a Reply