तेनुघाट में गांववालों ने की महिला की पिटाई, मुंह पर कालिख पोत, अर्धनग्न कर गांव में घुमाया..

Bokaro, Crime, News

बोकारो जिला के बेरमो अनुमंडल अंतर्गत तेनुघाट ओपी क्षेत्र में गांववालों द्वारा एक 35 वर्षीय महिला के साथ बदसलूकी एवं मारपीट की घटना सामने आई है| शुक्रवार की शाम उक्त महिला को चरित्रहीन बताते हुए गांव की महिलाओं ने उसे बुरी तरह पीटा और मुंह पर कालिख पोतकर, अर्धनग्न कर गांव भर में घुमाया|

सबसे बड़ी बात है कि महिलाओं ने मिलकर ही एक महिला के साथ ऐसा दुर्व्यवहार किया| पीड़िता को उसके घर से बाहर निकाला और फिर चप्पलों से पिटाई की| इतना सब करने के बाद भी सारी हदें पार करते हुए गांव की महिलाओं ने पीड़िता को अर्धनग्न कर हाथों में रस्सी बांध दिए| फिर उसके बाल काटे औऱ मुंह पर कालिख पोतकर, चप्पलों की माला पहनाकर उसे गांव में घुमाया| इस पूरी घटना के दौरान बाकी गांव तमाशबीन बना रहा औऱ किसी ने उन महिलाओं को रोकने की ज़हमत नहीं उठाई|

 

घटना की सूचना प्राप्त होते ही तेनुघाट ओपी पुलिस गांव पहुंची लेकिन गुस्साई महिलाओं के आगे उनकी एक ना चली| इस दौरान पुलिस पर पथराव भी किया गया जिसके जवाब में उन्हें हवाई फायरिंग करनी पड़ी| उस वक्त मजबूरन पुलिस को पीछे हटाना पड़ा और फिर थोड़ी देर में बेरमो एएसपी अंजनी अंजन ने बड़ी संख्या में महिला पुलिस बल को मौके पर भेजा| जिसके बाद आक्रोशित महिलाओं के कब्जे से पीड़िता को छुड़ाकर उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया|

बेरमो एएसपी अंजनी अंजन ने कहा कि पीड़िता को थाने लाकर पूछताछ की गई है|वहीं गांव के पंचायत प्रतिनिधि ने बताया कि गुरुवार रात गांव की एक महिला ने पीड़िता के घर जाकर उस पर अपने पति के साथ अवैध संबंध होने का आरोप लगाते हुए उसकी पिटाई की थी| शुक्रवार को पीड़िता ने इस मामले में तेनुघाट ओपी में शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन शाम में पीड़िता के साथ मारपीट पर बदसलूकी की गई|

वहीं इस पूरे मामले का संज्ञान लेते हुए बोकारो एसपी चंदन झा ने कहा कि कानून को हाथ में लेने का अधिकार किसी को नहीं है तथाजो भी दोषी है उनकी गिरफ्तारी होगी| 31 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुआ है जिसमें से 23 से पूछताछ हुई है| पूरे घटनाक्रम पर बात करते हुए एसपी श्री झा ने बताया कि गांववालों ने पूछताछ में पीड़ित महिला पर छेड़खानी औऱ रेप के 2-3 झूठे केस दर्ज कराने का आरोप लगाया है| इसको लेकर गांववालों में आक्रोश था|

एसपी झा ने साफतौर पर कहा कि गांववालों ने जो रास्ता अपनाया है, इसका उन्हें अंजाम भुगतना होगा|गांववालों द्वारा जो आरोप महिला के खिलाफ लगाये गए हैं, अगर वो सही भी है तो उनलोगों को कानूनी प्रक्रिया के साथ जाना चाहिए था| वो लोगप्रशासन के पास आते पूरे मामले की जांच होती औऱ उचित कार्रवाई की जाती| कथित तौर पर जिन लोगों पर उस महिला मे झूठे आरोप लगाए हैं उन्हें निर्दोष साबित करने के तहत कार्रवाई की जाती|एसपी झा ने बताया कि घटना का वीडियो फुटेज है उसके जरिए दोषियों की पहचान होगी| स्पीडी ट्रायल करवाया जाएगातथा जिन्होंने भी इस घटना को अंजाम दिया हैउनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगीऔर दोषियों को जेल भेजा जाएगा|

Leave a Reply